भतीजवा के मौसी Lyrics | Khesari Lal Yadav | BollywoodTracksLyrics

Bhatijwa Ke Mausi Jindabad Song Lyrics | Khesari Lal Yadav |  भतीजवा के मौसी



Bhatijwa Ke Mausi Jindabad (भतीजवा के मौसी) song lyrics is latest bhojpuri song. Bhatijwa Ke Mausi Jindabad lyrics are sung by Khesari Lal Yadav. Music composed by Shyam Sundar (Aadishakti Films) and lyrics are written by Akhilesh Kashyap. Under the music label of Aadishakti Films. Music Producer by Manoj Mishra. Digital Partner of Bhatijwa Ke Mausi Jindabad song Mars Entertainment.

bhatijwa-ke-mausi-jindabad-song-lyrics
bhatijwa ke mausi jindabad song lyrics

Song Details:

Song : Bhatijwa Ke Mausi Jindabad
Singer : Khesari Lal Yadav
Lyrics : Akhilesh Kashyap
Music : Shyam Sundar { Aadishakti Films}
Album : Bhatijwa Ke Mausi Jindabad
Digital : Vicky Yadav
Producer : Manoj Mishra
Company/Label : Aadishakti Films
Digital Partner : Mars Entertainment


Bhatijwa Ke Mausi Jindabad Lyrics In Hindi (भतीजवा के मौसी ):



मौसियो जिंदाबाद।
सारारारा।
जबरी ना जोबना में रंग डाल देवरु।
लइकवा के सोझा ना दबंग बन देवरु।
अरे अरे अरे ! लईकन सभ को भी देखिये।
त का करें ?
जबरी ना जोबना में रंग डाल देवरु।
लइकवा के सोझा ना दबंग बन देवरु।
पीके तू करे ल का नवटंकी आदमी हव की हव तू मंकी।
अरे सुन।
का ह ?
असो रही पिचुकारी तोहार मुर्दाबाद।
ए अंकल मेरी माँ को मत छुओ |
अरे हट हट हट तोरा माई के लगावे दे।
भतीजवा के माई जिंदाबाद।
जिंदाबाद जिंदाबाद।
भतिजवा के मऊसी जिंदाबाद।
जिंदाबाद। जिंदाबाद।
भगब की ना तू लोग।
ना।
भतीजा तोर माइयो जिंदाबाद।
तोर मौसियो जिंदाबाद।
भतीजा तोर माइयो जिंदाबाद।
ना मनब।
तोर मौसियो जिंदाबाद।
अरे कह दिहे की भरी फागुन राखस हमके आबाद।

भतीजा तोर माइयो जिंदाबाद।
ह नु ?
तोर मौसियो जिंदाबाद।
भतीजा तोर माइयो जिंदाबाद।
तोर मौसियो जिंदाबाद।
तोहरा अइसन आदमी के न नाली में लोग कचार कचार के लोग मारे।
आ तहरा के कहाँ मारे लग ?
हुड़दंग मचा के रखले बाड़ लोग।
त होली में सत्संग होला ?
संघे संघे देवरा जाला हो। बैगनवा के खेत में।
होली खेल कर ना तू गन्दा बरताव हो।
झूठो चिलाल ना ह मुखिया के चुनाव हो।
त चुनाव चिन्ह इतना निमन काहेके रखले बाड़ू ?
बटन दबाओ।
देवर भउजाई के ह होलियो चुनाव एगो।
डाले द रंग ए हमार भऊजी।
सारारारा।
असो छछुआई के ना हमनी के डाँट जान।
त का करी ?
तनी की हऊ तू खेलाड़ भऊजी।
तहार बहिनी हई।
तहार बहिनी के बन जनी ढेर उस्ताज।
गरिआव तरु का ?
चाचा इ ठीक नईखे होत।
बाबू तू घर में जो त।
भीतर जइबे का फेर।
इ लोग के बतईये देहब।
बिना बतवले छोटका आ गईल।
ना मनब लोग ?
ना।
भतीजा तोर माइयो जिंदाबाद
तोर मौसियो जिंदाबाद।।। 
भतीजा तोर माइयो जिंदाबाद
तोर मौसियो जिंदाबाद।
बेशर्मे हव का ये कश्यप ?
ना ना तनी सोनू भईया के देखी के तनी सीखी गईल बानी।
होली खेले रघुवीरा अवध में होली खेले रघुवीरा।
बाबुओ के लागता बिगड़ब अखिलेश हो।
तहरे संगे बाऊर बन गईले बरजेश हो।
मम्मी रे।
बेटा तू चुप रहु अभी भगाव तनी। इ लोग के।
रंगवे नु डाल तानी नईखी करत हम त तुहरा से कुछु अपराध भऊजी।
सारारारा।
मौका के फायदा उठाल नईखे हमरा ओरी से कौनो बाध भऊजी।
तब डालिये ना कर जनी टाइम बरबाद।
आ गईलू लाइन प।
रे भतिजवा।
तनी चाँप ए व्यास।
ए भतिजवा।
हे भगवान्।
भतीजा तोर माइयो जिंदाबाद।
तोर मौसियो जिंदाबाद।
लफुआ सन।
भतीजा तोर माइयो जिंदाबाद।
भाग ना त हमार मरद खिसिआ जईहे।
खेसरिया से ना खिसिअइहें।
तोर मौसियो जिंदाबाद।।।

Post a comment